Kanya Sumangala Yojana

Kanya Sumangala Yojana

समाज में बालिकाओं का आर्थिक विकास अत्यंत आवश्यक है ताकि वे मूलभूत आवश्यकताओं के लिए किसी पर निर्भर ना रहें। ऐसे में यूपी सरकार ने अपने राज्य की बेटियों के लिए कन्या सुमंगला योजना की शुरुआत की है जिसके अन्तर्गत राज्य की बच्चियों को जन्म से कक्षा 12वीं तक की पढ़ाई पूरी करने तक 25 हजार रुपए की आर्थिक सहायता 6 अलग-अलग किश्तों में प्रदान की जाती है। इस धनराशि का उपयोग बालिकाओं की शिक्षा को सुनिश्चित करने के लिए किया जा सकता है। अगर आप अपनी बालिका की शिक्षा और उज्जवल भविष्य के लिए इस योजना 2024 के तहत आवेदन करने की इच्छा रखते हैं तो आपको इस योजना के बारे में संपूर्ण जानकारी होनी चाहिए। लोकपहल के इस लेख में हम आपको कन्या सुमंगला योजना (Kanya Sumangala Yojana) क्या है, इस योजना के क्या लाभ है, इस योजना को शुरू करने का उद्देश्य, सरकार द्वारा निर्धारित की गई पात्रता, आवश्यक दस्तावेज और आवेदन प्रक्रिया के बारे में पूरी जानकारी देंगे। 

कन्या सुमंगला योजना (Kanya Sumangala Yojana) क्या है?

उत्तर प्रदेश सरकार ने बच्चियों की शिक्षा के लिए कन्या सुमंगला योजना (Kanya Sumangala Yojana) की शुरुआत की है। जिसके तहत जन्म से लेकर 12वीं कक्षा तक अलग-अलग स्तर पर असमान किस्तों में बच्चियों को 25 हजार रुपए की आर्थिक सहायता उपलब्ध कराई जाएगी जो बच्चियों को उचित शिक्षा प्राप्त करने में सहायक होगी। पहले इस योजना के तहत ₹15000 की सहायता राशि दी जाती थी लेकिन अब इसे बढ़ाकर सरकार द्वारा ₹25000/– कर दी गई है। ऐसे गरीब परिवार जो बच्चियों को बोझ समझ कर उन्हें जन्म के समय मार देते हैं या उनकी शिक्षा पर रोक लगा देते हैं, ऐसे परिवारों को इस योजना के माध्यम से सही मार्गदर्शन मिलेगा ताकि वे बेटियों के प्रति अपनी इस नकारात्मक सोच को बदल सकें। इस योजना से समाज में बदलाव आएगा, लोगों के सोच बदलेंगे और इससे बेटियों का भविष्य उज्जवल होगा।

कन्या सुमंगला योजना का उद्देश्य क्या है?

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा कन्या सुमंगला योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य बेटियों का सामाजिक और आर्थिक विकास है जो अच्छी शिक्षा से ही संभव है। इसलिए बच्चियों की शिक्षा को सुनिश्चित करने के लिए यूपी सरकार ने कन्या सुमंगला योजना (Kanya Sumangala Yojana) को लॉन्च किया है जो उन्हें अलग-अलग स्तर पर शिक्षा के लिए आर्थिक सहायता प्रदान करेगी। इस योजना से बेटियों को लेकर लोगों के मन में जो नकारात्मक विचार है उसमें बदलाव आएगा और इससे बेटियों को भी उच्च शिक्षा के लिए प्रोत्साहन मिलेगा।

कन्या सुमंगला योजना (Kanya Sumangala Yojana) के तहत कब और कितनी मिलेगी धनराशि

बालिका के जन्म के समय: ₹5000

जन्म के 1 साल बाद टीकाकरण होने पर: ₹2000

कक्षा पहली में प्रवेश लेने पर:₹3000

कक्षा 6वी में प्रवेश लेने पर: ₹3000

कक्षा 9 वीं में प्रवेश लेने पर: ₹5000

कक्षा 12 वीं में प्रवेश लेने पर एकमुश्त राशि: ₹7000

कन्या सुमंगला योजना के लाभ

योजना के तहत प्रथम श्रेणी में जन्म पर यूपी सरकार गरीब परिवार को ₹5000 की आर्थिक सहायता प्रदान करती है।इसके बाद 1 साल के पश्चात टीकाकरण पर 2000 रूपये।कक्षा पहली से लेकर 12वीं तक की पढ़ाई के लिए ₹18000 रुपए की राशि प्रदान की जाती है। इस तरह बच्चियों को कुल ₹25000 की राशि असमान किस्तों में प्राप्त होती है। यह धनराशि बालिकाओं को शिक्षा प्राप्त करने में सहायक है। गरीब परिवारों को भी यह योजना प्रोत्साहित करती है ताकि वह अपनी बालिकाओं को बोझ समझ कर उनकी शिक्षा में रुकावट ना बनें। बालिकाओं के आर्थिक और सामाजिक विकास के लिए यह यूपी सरकार की एक महत्वपूर्ण पहल है।

कन्या सुमंगला योजना के लिए पात्रता

कन्या सुमंगला योजना में आवेदन करने के लिए आपको इन पात्रताओं को पूरा करना होगा 

  1. बालिका और उसके अभिभावक उत्तर प्रदेश राज्य के स्थाई निवासी होने चाहिए।
  2. ऐसी बालिका जिनका जन्म 1 अप्रैल 2019 के बाद हुआ है, उन्हें इस योजना का लाभ दिया जाएगा।ध्यान रखें कि एक परिवार में अधिकतम दो बच्चे इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकते हैं। 
  3. ऐसे परिवार जिनकी वार्षिक आय 3 लाख रुपए से कम है, वह इस योजना के तहत लाभान्वित किए जाएंगे। जुड़वा होने की स्थिति में तीन बच्चियों तक योजना का लाभ दिया जाएगा। 
  4. योजना का आवेदन फॉर्म भरते समय आवेदक को वैध मोबाइल नंबर के साथ एक अन्य नंबर भी उपलब्ध कराना होगा। 
  5. गरीब परिवार की बालिकाओं को इस योजना के तहत लाभ में दिए जाने का प्रावधान है। हर धर्म या जाति या वर्ग की बालिकाएं इस योजना का लाभ प्राप्त कर पाएंगी। यदि दस्तावेज या आवेदन फार्म में किसी प्रकार की गलती पाई जाती है तो आवेदक का आवेदन खारिज कर दिया जाएगा।

कन्या सुमंगला योजना के लिए लगने वाले दस्तावेज

कन्या सुमंगला योजना का लाभ प्राप्त करने की इच्छुक उम्मीदवारों को इन दस्तावेजों की आपूर्ति करनी होगी।

अभिभावक का आधार कार्ड

बालिका का जन्म प्रमाण पत्र

निवास प्रमाण पत्र

आय प्रमाण पत्र

बिजली बिल

बैंक अकाउंट डिटेल्स

पासपोर्ट साइज फोटो

मोबाइल नंबर 

कन्या सुमंगला योजना  के तहत आवेदन कैसे करें?

राज्य के ऐसे इच्छुक उम्मीदवार जो मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना (Kanya Sumangala Yojana) का लाभ लेने के लिए आवेदन करना चाहते हैं वे इस प्रक्रिया का अनुसरण करें:

  1. सबसे पहले आप कन्या सुमंगला योजना की आधिकारिक वेबसाइट https://mksy.up.gov.in/ को खोलें।
  2. अब आधिकारिक वेबसाइट का होम पेज खुल कर आएगा, इसमें दिए गए “नया उपयोगकर्ता-खुद को पंजीकृत करें” के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  3. क्लिक करने के बाद एक रजिस्ट्रेशन फॉर्म ओपन होगा जिसमें मांगी गई सारी जानकारी सावधानी से दर्ज करनी होगी।
  4. जानकारी दर्ज करने के बाद “रजिस्टर” के विकल्प पर क्लिक करके रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया पूरी करनी होगी।
  5. रजिस्ट्रेशन हो जाने के बाद एक यूजर आईडी प्राप्त होगी जिसकी मदद से वापस पोर्टल पर लॉगिन करना होगा।
  6. लॉगिन करने के बाद योजना का आवेदन फार्म खुलकर आएगा जिसे सावधानीपूर्वक भरना होगा। 
  7. आवेदन फॉर्म भर लेने के उपरांत महत्वपूर्ण दस्तावेजों को स्कैन करके अपलोड करना होगा। 
  8. इतना करने के बाद अंत में दिए गए “सबमिट” के विकल्प पर क्लिक करना होगा, ऐसा करने के बाद कन्या सुमंगला योजना के तहत ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

कन्या सुमंगला योजना (Kanya Sumangala Yojana) न केवल बालिकाओं के उज्जवल भविष्य का मार्ग प्रशस्त करती है, बल्कि समाज में लैंगिक समानता और महिला सशक्तिकरण की दिशा में भी महत्वपूर्ण कदम है। इस योजना से लाभान्वित होने वाली प्रत्येक बालिका हमारे समाज की प्रगति का प्रतीक है। सरकार का यह प्रयास सराहनीय है, जो बेटियों को आगे बढ़ने और अपने सपनों को साकार करने का अवसर प्रदान करता है। आइए, हम सभी मिलकर इस योजना के बारे में जागरूकता फैलाएं और इसे सफल बनाने में अपना योगदान दें। अंततः, यह हमारी जिम्मेदारी है कि हम अपने समाज को एक बेहतर और समान भविष्य की ओर ले जाएं।

टिप्पणी करें

Search

© Copyright 2024 Lokpahal.org | Developed and Maintained By Fooracles

( उ.  प्र.)  चुनावी  सर्वेक्षण  2022
close slider