Bhagya Lakshmi Yojana 2024

Bhagya Lakshmi Yojana

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा गरीबी रेखा से नीचे जीवन व्यापन करने वाले लोगों के लिए नयी-नयी योजनाएं आती रहती हैं, जिनमें से एक योजना भाग्य लक्ष्मी योजना (Bhagya Lakshmi Yojana) भी है। यह योजना महिलाओं और बच्चियों के जीवन कल्याण को ध्यान में रखते हुए बनायीं गयी है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य बेटियों के जन्म को बढ़ावा देने और उनके भविष्य को सुरक्षित करना है। तो आइए लोकपहल के इस लेख के माध्यम से भाग्य लक्ष्मी योजना की सारी बाते विस्तार से जान लेते हैं, जैसे कि अप्लाई कैसे करना और अप्लाई करने के लिए क्या पात्रता होनी आवश्यक है।

भाग्य लक्ष्मी योजना क्या हैं-

इस योजना के तहत सरकार द्वारा बेटियों के जन्म से लेकर पढ़ाई तक, पढ़ाई से लेकर शादी तक, सभी चीज़ो में सहायता प्रदान की जाती है। इतना ही नहीं बेटी के परिवार को भी आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है। जिससे बेटियों के जन्म होने पर कोई भी परिवार अपने ऊपर बोझ न समझे और उसका पालन अच्छे तरीके से कर सके।

भाग्य लक्ष्मी योजना का उद्देश्य -

भाग्य लक्ष्मी योजना Bhagya Lakshmi Yojana का मुख्य उद्देश्य देश में बेटी के जन्म को बढ़ावा देने का हैं, जिससे सभी परिवार बिना किसी भेदभाव के बेटियों का पालन-पोषण करें। इसी वजह से सरकार परिवार को भी आर्थिक सहायता प्रदान करती है, जिससे बेटियों का पालन-पोषण अच्छे तरीके से हो सके। आपको बता दें कि अभी ये योजना सिर्फ उत्तर प्रदेश और कर्नाटक प्रदेश में ही लागू की गयी है।  

भाग्य लक्ष्मी योजना के पात्रता मापदंड -

इस योजना में पात्रता के अनुसार आपको इन मापदंडो को पूरा करना होगा जोकि कुछ इस प्रकार हैं -

  1. बेटी का जन्म 31 मार्च 2006 के बाद गरीबी रेखा से नीचे जीवन व्यापन करने वाले (BPL कार्ड वाले) परिवार में होना चाहिए। 
  2. घर में जन्मी बेटी का योजना के अंदर पंजीकरण 1 साल के अंदर हो जाना चाहिए। 
  3. भाग्य लक्ष्मी योजना (Bhagya Lakshmi Yojana) एक BPL परिवार में सिर्फ 2 बेटियों के लिए लागू हैं यदि किसी परिवार में 2 से ज्यादा बेटियां हैं, तो सिर्फ 2 बेटियों को ही इस योजना का लाभ मिल सकता हैं। 
  4. बेटी को भारतीय स्वस्थ्य विभाग द्वारा आयोजित कार्यक्रम के माध्यम से टिका लगा हुआ होना चाहिए। 
  5. बेटी की कम से कम कक्षा 8 तक की पढ़ाई होनी चाहिए और 18 वर्ष की आयु से पहले बेटी का विवाह नहीं होना चाहिए। 
  6. बेटी का परिवार उत्तर प्रदेश या कर्नाटक के निवासी होने चाहिए। 
  7. परिवार की वार्षिक आय 2 लाख के भीतर होनी चाहिए। 

भाग्य लक्ष्मी योजना के लिए जरुरी दस्तावेज -

इस योजना में लाभार्थी होने के लिए आपको इन सभी दस्तावेजों की जरुरत होगी जोकि कुछ इस प्रकार हैं - 

  1. बेटी का जन्म प्रमाण पत्र 
  2. भाग्य लक्ष्मी योजना का ऑनलाइन या डाउनलोडेड ऑफलाइन फॉर्म 
  3. अभिभावकों का मूल निवास प्रमाण पत्र 
  4. परिवार का गरीबी रेखा से नीचे जीवन व्यापन वाला BPL कार्ड 
  5. आवेदक के बैंक खाते की जानकारी जैसे - बेटी का बैंक अकाउंट या अभिभावक का बेटी के साथ जॉइंट बैंक अकाउंट 
  6. परिवार की वार्षिक आय प्रमाण पत्र 
  7. बेटी का स्कूल में नामांकन का प्रमाण पत्र 
  8. लाभार्थी बेटी और उसके माता पिता का आधार कार्ड 
  9. बेटी का पासपोर्ट साइज और परिवार के साथ फोटो

उत्तर प्रदेश भाग्य लक्ष्मी योजना के लाभ - 

उत्तर प्रदेश सरकार इस योजना के तहत बेटी के जन्म के समय 51000 रूपये का बांड देती है।  जब बेटी 21 साल की हो जाती है, तो इस बांड की कीमत 2 लाख रूपये हो जाती है। इसके अलावा बेटी की माँ को 5100 रूपये की सहायता प्रदान की जाती है और बेटी के पढ़ने के लिए 21000 रूपये की राशि दी जाती है। जोकि क्लास वाइज बेटी को कुछ इस प्रकार दी जाती है।   

  1. क्लास 6 में 3000 
  2. क्लास 8 में 5000 
  3. क्लास 10 में 7000 
  4. क्लास 12 में 8000 

भाग्य लक्ष्मी योजना में आवेदन करने का तरीका 

इस योजना में आप ऑनलाइन आवेदन कर सकते है-

  1. इस योजना में आवेदन करने के लिए सबसे पहले आपको भाग्य लक्ष्मी योजना (Bhagya Lakshmi Yojana) की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना है और अप्लाई ऑनलाइन या ऑनलाइन पंजीकरण पर क्लिक करें।
  2. पंजीकरण फॉर्म भरने के लिए आवेदन फॉर्म में मांगी गई सभी जानकारी को सही-सही भरें। जैसे कि
  • अभिभावक का नाम
  • अभिभावक का आधार नंबर
  • अभिभावक का मोबाइल नंबर
  • लाभार्थी बच्ची का नाम
  • लाभार्थी बच्ची का आधार नंबर
  • जन्म प्रमाण पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • बैंक खाता विवरण

      3. पंजीकरण फॉर्म भरने के बाद आवश्यक दस्तावेजों को अपलोड करें, जैसे कि

  • लाभार्थी बच्ची का जन्म प्रमाण पत्र
  • अभिभावक का पहचान पत्र (आधार कार्ड, वोटर आईडी, आदि)
  • निवास प्रमाण पत्र
  • बैंक पासबुक की कॉपी
  • लाभार्थी बच्ची का आधार कार्ड
  1. सभी दस्तावेजों को अपलोड करके फॉर्म को सबमिट कर दें।
  1. फॉर्म सबमिट करने के बाद आपको एक पावती संख्या (Acknowledgment Number) प्राप्त होगी। इसे संभाल कर रखें, क्योंकि यह भविष्य में आवेदन की स्थिति जानने के लिए उपयोगी होगी। 
  1. आवेदन की स्थिति को जांचने के लिए मिशन शक्ति पोर्टल पर "आवेदन स्थिति जांचें" विकल्प का उपयोग करें और अपनी पावती संख्या और अन्य आवश्यक जानकारी डालकर आवेदन की स्थिति देख सकते हैं। 

इस ब्लॉग पोस्ट में हमने आपको सारी जानकारी दी है।  कृपया योजना में आवेदन करने से पहले अपने सभी जरुरी दस्तावेजों को पूरा कर ले, उसके बाद ही योजना में आवेदन करें, जिससे आपको आवेदन प्रक्रिया के समय कोई भी परेशानी ना हो। इसी तरह की सरकारी योजना से सम्बंधित ब्लॉग पोस्ट हमारी वेबसाइट पर समय समय पर डाली जाती है, तो हमारी वेबसाइट ध्यान में रखें और सब्सक्राइब कर लें, जिससे भविष्य में आपको ब्लॉग पोस्ट आते ही नोटिफिकेशन मिल सके। 

FAQ 

भाग्य लक्ष्मी योजना की शुरुआत कब हुई?

भाग्य लक्ष्मी योजना 2017 में उत्तर प्रदेश में शुरू हुई, जो विशेष रूप से बेटियों के बनायीं गयी है, जिसका उद्देश्य उन्हें बेहतर अवसर प्रदान करना है।

भाग्य लक्ष्मी योजना के लिए कौन पात्र है?

इस योजना के पात्र वे लोग है जो बीपीएल कार्ड वाले परिवार है और परिवार में 31 मार्च 2006 के बाद जन्मी दो बेटियां पात्र हैं। परिवार की वार्षिकआय 2 लाख रूपये या इससे कम होनी चाहिए।

उत्तर प्रदेश में बेटियों के लिए कौन सी योजना है?

उत्तर प्रदेश में बेटियों के लिए भाग्य लक्ष्मी योजना है।

टिप्पणी करें

Search

© Copyright 2024 Lokpahal.org | Developed and Maintained By Fooracles

( उ.  प्र.)  चुनावी  सर्वेक्षण  2022
close slider