Menu

प्रधानमंत्री जन (आयुष्मान भारत ) आरोग्य योजना

राष्ट्रीय स्वास्थ्य नीति 2017 के तहत यूनिवर्सल हेल्थ कवरेज (यू-एच-सी) के लिए, “आयुष्मान भारत” एक प्रमुख योजना है जो विकास लक्ष्यों (SDGs) और इसकी रेखांकित प्रतिबद्धता को पूरा करने के लिए तैयार की गई है। इसका उद्देश्य है: “कोई भी पीछे ना छूटे।”
“आयुष्मान भारत” स्वास्थ्य सेवा एक व्यापक और व्यावहारिक स्वास्थ्य सेवा की ओर बढ़ने का प्रयास है। यह योजना प्राथमिक, माध्यमिक और तृतीयक स्वास्थ्य सेवा को समेकित रूप से सम्बोधित करती है। आयुष्मान भारत समेकित स्वास्थ्य सेवाओं की ओर एक बड़ा क़दम है।

इसके 2 घटक हैं :

स्वास्थ्य एवं कल्याण केंद्र (HWC’s)
प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (पीएम-जय)

स्वास्थ्य एवं कल्याण केंद्र (HWCs)

भारत सरकार पूर्व के उप केंद्रों और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों को बदलकर 1,50,000 स्वास्थ्य एवं कल्याण केंद्र (Health and Wellness Centres) बनाने की घोषणा की गयी है । यह व्यापक प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र (CPHC) और स्वास्थ्य सेवाओं को लोगों के घरों तक पहुंचाने की कोशिश है। इन केंद्रों में प्राथमिक उपचार एवं निदान तथा मातृ और बाल स्वास्थ्य सेवाएँ नि:शुल्क उपलब्ध हैं।

प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना

आयुष्मान भारत के तहत दूसरा घटक प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना है जिसे लोग (प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना )के नाम जानते हैं। यह योजना 23 सितंबर, 2018 को भारत के माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के द्वारा रांची, झारखंड में शुरू की गई।
आयुष्मान भारत (प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना) दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य आश्वासन योजना है, जिसका उद्देश्य हर गरीब और वंचित परिवार (लगभग 50 करोड़ नागरिकों) को को प्रति वर्ष 5 लाख रुपये तक का मुफ़्त इलाज मुहैया कराना/ आश्वासन देना है। लाभार्ती परिवार ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों की सामाजिक-आर्थिक जाति जनगणना 2011 (SECC 2011) एवं व्यावसायिक मापदण्डों पर चुने गए हैं। पूर्ववर्ती राष्ट्रीय स्वास्थ्य योजना (RSBY) को प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना में मिला दिया गया है। इसलिए (प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना ) के तहत उन परिवारों को भी शामिल किया गया है जो RSBY में उल्लेखित थे परन्तु SECC 2011 के डेटाबेस में नहीं थे। प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना पूरी तरह से सरकार द्वारा वित्त-पोषित योजना है जिसकी कार्य लागत केंद्र और राज्य सरकारों के बीच बटी हुई है।

(प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना) की मुख्य विशेषताएं

१- पूरी तरह से सरकार द्वारा वित्त-पोषित दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा/आश्वासन योजना है।
२- यह योजना लाभार्थियों को सार्वजनिक व निजी सूचीबद्ध अस्पतालों में माध्यमिक और तृतीयक उपचार सेवा मुहैया कराती है। प्रति परिवार प्रति वर्ष 5 लाख रुपये तक कीचिकित्सा सुविधा अनुमन्य है।
३- (प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना) सेवा संस्थान अर्थात “अस्पतालों” में लाभार्थी को स्वास्थ्य सेवाएँ निशुल्क प्रदान की जाती हैं।
४- प्रत्येक वर्ष लगभग 6 करोड़ भारतीय मंहगी चिकित्सा सेवाओं के कारण गरीबी की रेखा से नीचे पहुंच जाते हैं। इस त्रासदी को कम करने में प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना काफी कारगर सिद्ध हुई है।
५- योजना के तहत अस्पताल में भर्ती होने से 3 दिन पहले और 15 दिन बाद तक का उपचार मुफ्त उपलब्ध होता है।
६- इस योजना के तहत परिवार के सदस्यों की संख्या, आयु या लिंग बाधा नहीं है।
७- पहले से मौजूद चिकित्सीय परिस्थितियों और गम्भीर बीमारियों को पहले दिन से ही शामिल किया जाता है।
८- (प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना) एक पोर्टेबल योजना हैं यानी की लाभार्थी इसका लाभ पूरे देश में किसी भी सार्वजनिक या निजी सूचीबद्ध अस्पताल में उठा सकते हैं।
९- इस योजना में लगभग 1,393 प्रक्रियाएं और पैकिज , जैसे दवाइयाँ, दैनिक सेवाएँ, चिकित्सकों की फीस, कमरे का शुल्क, ओ-टी और आई-सी-यू शुल्क आदि; ये सभी मुफ़्त उपलब्ध हैं।
१०- स्वास्थ्य सेवाओं के लिए निजी अस्पतालों की प्रतिपूर्ति सार्वजनिक अस्पतालों के बराबर की जाती है।

प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना की विशेषता :

भारत में कई सरकारी वित्त-पोषित स्वास्थ्य बीमा योजनाएं प्रभावी रही हैं रही हैं जिनमें प्रति परिवार 30,000 रुपये से लेकर 3,00,000 रुपये तक की धन राशि दी जाती थी, जो असमानता का बोध कराती थी। प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना में समस्त लाभार्थियों को प्रति परिवार प्रति वर्ष 5,00,000 रुपये बीमा सहायता दे कर इस असमानता को दूर किया गया है। इस योजना के तहत निम्नलिखित उपचार निशुल्क उपलब्ध हैं।

* चिकित्सिक परीक्षा, उपचार और परामर्श
* अस्पताल में भर्ती-पूर्व खर्चा
* दवाइयाँ और चिकित्सा सेवा
* सामान्य और गहन स्वास्थ्य सेवाएँ
* नैदानिक और प्रयोगशाला जांच
* चिकित्सा आरोपण सेवाएं (जहां आवश्यक हो)
* अस्पताल में रहने का ख़र्चा
* अस्पताल में खाने का ख़र्चा
* उपचार के दौरान उत्पन्न होने वाली जटिलताओं का समाधान
* अस्पताल में भर्ती होने के बाद 15 दिनों तक की देखभाल

योजना में 5,00,000 रुपये का लाभ पूरे परिवार को मिलता है, यानेकि इसका उपयोग परिवार के एक या सभी सदस्यों द्वारा किया जा सकता है। RSBY योजना के तहत पाँच सदस्यों की पारिवारिक सीमा थी। उन योजनाओं से सीख लेते हुए, (प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना) की संरचना इस प्रकार की गई है कि परिवार के आकार या सदस्यों की उम्र पर कोई सीमा नहीं रखी गई है। इसके आलावा , पहले से मौजूद विभिन बीमारियों को इस योजना में पहले दिन से ही शामिल किया जाता है। इसका मतलब यह है कि (प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना में) नामांकित होने से पहले किसी भी क़िस्म की बीमारी या स्वास्थ्य समस्या से ग्रस्त व्यक्ति अपने पूर्व रोगों के प्रति भी पहले दिन से ही बीमित हो जाता है।

पात्रता की जाँच करने की प्रक्रिया (आयुष्मान गोल्डन कार्ड प्राप्त हेतु)

आप इस योजना की इसकी पात्रता जांचने के लिए निम्नलिखित स्टेप्स फॉलो करें।
* सबसे पहले प्रधानमंत्री जान आरोग्य योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं
* होम पेज पर आपको ऍम आई एलिजिबल ऑप्शन पर क्लिक करना है।
* अब नए पेज पर आपको अपना रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर और कैप्चा कोड को भरें।
* इसके बाद आपको GENERATE OTP के ऑप्शन पर क्लिक करना है।
* जिसके बाद आपके मोबाइल में OTP प्राप्त होगा।
* आपको OTP(ONE TIME PASSWORD) को दिए गए बॉक्स में भरना होगा।
* अब आपको दिए गए ऑप्शंस जैसे: नाम से, मोबाइल नंबर द्वारा, राशन कार्ड से, RSBI URN से, किसी एक ऑप्शन को सेलेक्ट करना होगा।
* सेलेक्ट करने के बाद सर्च बाई नेम के ऑप्शन पर क्लिक करें और पूछी गयी जानकारी जैसे: आपका नाम, उम्र, जिला आदि भरें ।
* सभी जानकारी को सही से भरने के पश्चात आपके सामने रिजल्ट प्रस्तुत हो जायेगा जिसमे यह दर्शाया हुआ होगी की आप गोल्डन कार्ड के पात्र है या नहीं।

आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड डाउनलोड कैसे करें?

आप अपना आरोग्य कार्ड अपने नजदीकी पब्लिक सर्विस सेंटर या सम्बंधित कार्यालय में जाकर इसका प्रिंट आउट निकलवा सकते हैं। परन्तु जिस जगह से अपने कार्ड बनवाने के लिए दिया होगा वही से आपको इसे डाउनलोड करना होगा, डाउनलोड करने की प्रक्रिया इस तरह से है:

ऑनलाइन डाउनलोड प्रक्रिया

* सबसे पहले आप प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना की आधिकारिक वेबसाइट (https://connect.csc.gov.in/)पर जाएं।
* जिसके बाद आपके सामने होम पेज खुल कर आ जायेगा।
* होम पेज पर डिजिटल सेवा कनेक्ट के अंदर यूजर नेम व ईमेल ID और पासवर्ड को भर दें।
* अब आप SIGN IN पर क्लिक कर दें।
* नए पेज खुलने पर आप अपना आधार कार्ड नंबर डाले और कन्फर्म आधार एंड प्रोसीड पर क्लिक कर दें।
* अब नए पेज खुलने के पश्चात आपको अपना अंगूठे का प्रमाण चिन्ह वेरीफाई करना है।
* अब आप नए पेज पर दिए गए ऑप्शंस में से APPROVED BENEFICIARY के ऑप्शन पर क्लिक करें।
* क्लिक करते ही आपके सामने आपका आयुष्मान गोल्डन कार्ड APPROVED हुआ है या नहीं उसकी लिस्ट दिखाई देगी।
* यदि आपका नाम लिस्ट में होगा तो आप कन्फर्म प्रिंट के ऑप्शन पर क्लिक कर दें।
* अब आपका नाम CSC VLE(विलेज लेवल एंटरप्रेन्योर जिसके माध्यम से आवेदन पत्र स्वीकार किये जा रहे है) में आ जायेगा।
* अब आपको जन सेवा केंद्र वॉलेट पर पुनः निर्देशित किया जायेगा।
* अब आप CSC वॉलेट में अपना पासवर्ड डालें।
* पासवर्ड डालने के पश्चात वॉलेट पिन भरें।
* जिसके बाद आप सीधा होम पेज पर आ जायेंगे।
* अब आपके सामने उम्मीदवार के नाम के आगे डाउनलोड कार्ड का ऑप्शन दिखाई देगा जिसे आप क्लिक कर दें।
इसके बाद आपका गोल्डन कार्ड डाउनलोड हो जायेगा।

टिप्पणी करें

Search


Facebook




Instagram


Youtube

हमारे बारे में

हमारा उद्देश्य जनता तक डबल इंजन की सरकार द्वारा किए जा रहे जन कल्याणकारी कार्यों का सही लाभ उठाने में मदद करना है।

अन्वेषण करें

हमारा अभियान



  • सामाजिक सरोकार
  • Jun 13, 2024


Mukhyamantri Udyami Yojana




Pradhan Mantri Matsya Sampada Yojana

  • सामाजिक सरोकार
  • Jun 06, 2024


Pradhan Mantri Matsya Sampada Yojana

© Copyright 2024 Lokpahal.org | Developed and Maintained By Fooracles

( उ.  प्र.)  चुनावी  सर्वेक्षण  2022
close slider