भारत के युवाओं को रोजगार की गारंटी देने के उद्देश्य से देश के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने वर्ष 2016 में प्रधानमंत्री रोजगार योजना शुरू की थी। इस योजना के माध्यम से केंद्र की मोदी सरकार शिक्षित युवाओं को रोजगार से जोड़ने के लिए आर्थिक मदद उपलब्ध कराती है। प्रधानमंत्री रोजगार योजना के माध्यम से शिक्षित बेरोजगार युवाओं को अपना स्वरोजगार शुरू करने के लिए सरकार से ऋण के रूप में आर्थिक मदद प्राप्त होती है। भारत में 18 वर्ष से लेकर 35 आयु तक के सभी साक्षर युवा इस योजना के अंतर्गत ऋण के लिए आवेदन कर सकते हैं। प्रधानमंत्री रोजगार योजना के अंतर्गत ऋण के लिए उन युवाओं या महिलाओं को प्राथमिक वरीयता दी जाती है, जिन्होंने तकनीकी कोर्स या तकनीकी प्रशिक्षण प्राप्त किया है।

इस योजना का लाभ उठाने के लिए आपके पास आधार कार्ड, बैंक पासबुक, पासपोर्ट साइज फोटो, मोबाइल नंबर, आय प्रमाण पत्र, निवास प्रमाण पत्र, राशन कार्ड, शैक्षिक प्रमाण पत्र व तकनीकी प्रशिक्षण से जुड़े दस्तावेज होना आवश्यक है।

इस योजना के अंतर्गत जिन भी युवाओं को ऋण की प्राप्ति होती है, उनको 3 साल की अवधि से लेकर 7 साल की अवधि तक ऋण चुकाने का मौका मिलता है। इसके साथ ही जिन युवाओं या उनके परिवार की वार्षिक आय 40,000 रुपए से ज्यादा होती है, उन्हें प्रधानमंत्री रोजगार योजना का फायदा नहीं मिलता है। प्रधानमंत्री रोजगार योजना के अंतर्गत अपने स्वरोजगार को शुरू करने के लिए आप नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके इस योजना के अंतर्गत ऋण के लिए आवेदन कर सकते हैं। जहां आप आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर अपने जरूरी दस्तावेजों और आवश्यक जानकारी भरकर प्रधानमंत्री रोजगार योजना के अंतर्गत ऋण प्राप्त कर सकते हैं।

प्रधानमंत्री रोजगार योजना के अंतर्गत किसी भी राज्य के युवाओं को अपना व्यवसाय चलाने के लिए ऋण मिलता है। पहले इस योजना के अंतर्गत दसवीं पास युवाओं को आसानी से ऋण मिल जाता था, लेकिन अब आठवीं पास युवा भी प्रधानमंत्री रोजगार योजना के अंतर्गत ऋण के लिए आवेदन कर सकते हैं। प्रधानमंत्री रोजगार योजना के माध्यम से जहां एक ओर शिक्षित नवयुवकों को रोजगार प्राप्त होता है, तो वहीं स्टार्टअप को बढ़ावा मिलता है। इस योजना के माध्यम से देश में बेरोजगारी दर भी घट रही है और युवा आत्मनिर्भर बन रहे हैं। प्रधानमंत्री रोजगार योजना के माध्यम से युवाओं को किसी भी प्रकार का लघु उद्योग या व्यवसाय शुरू करने के लिए 10 लाख रुपए तक का ऋण आसानी से मिल जाता है, जिसे आप लंबी अवधि तक चुका सकते हैं। आप प्रधानमंत्री रोजगार योजना के अंतर्गत ऋण पाने के लिए नजदीकी बैंक की शाखा में जाकर भी इस योजना से जुड़ी आवश्यक जानकारी पा सकते हैं। सरकार द्वारा इस योजना के अंतर्गत लाभार्थियों को 10% से लेकर 12% तक सब्सिडी भी दी जाती है।

प्रधानमंत्री रोजगार योजना के अंतर्गत ऋण के लिए आवेदन करने वाले जातकों को जाति के आधार पर ऋण में छूट भी मिलती है, लेकिन यदि किसी आवेदक को बैंक से डिफाल्टर घोषित कर दिया गया है, तब ऐसी स्थिति में आवेदक को इस योजना के अंतर्गत ऋण नहीं मिलता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की इस महत्वाकांक्षी योजना के जरिए युवाओं को अपना स्वरोजगार शुरू करने के लिए आर्थिक सहायता प्राप्त होती है व इस योजना के माध्यम से युवाओं को व्यवसाय शुरू करने के लिए ऋण के अलावा जरूरी प्रशिक्षण भी दिया जाता है, और इस योजना के अंतर्गत अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, दिव्यांगजन और महिलाओं को आरक्षण की सुविधा दी जाती है। इस प्रकार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की यह योजना युवाओं को रोजगार की गारंटी देने हेतु ऋण की सुविधा मुहैया कराती है, जिससे युवा आत्मनिर्भर बनकर देश की तरक्की में अपना विशेष योगदान दे सकते हैं।

टिप्पणी करें

© Copyright 2024 Lokpahal.org | Developed and Maintained By Fooracles

( उ.  प्र.)  चुनावी  सर्वेक्षण  2022
close slider