देवी अहिल्याबाई निशुल्क शिक्षा योजना
केंद्र सरकार के बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के स्वप्न को साकार करने के लिए उत्तर प्रदेश की योगी सरकार प्रदेश के अंदर बेटियों के हित में अनेक लाभकारी योजनाएं संचालित कर रही है। इसी दिशा में योगी सरकार द्वारा देवी अहिल्याबाई नि:शुल्क शिक्षा योजना उत्तर प्रदेश में लागू की गई है। इस योजना के अंतर्गत सरकार गरीब घर की बेटियों की शिक्षा की जिम्मेदारी उठाती है, ताकि बेटियां शिक्षित होकर घर परिवार व समाज का नाम रोशन कर सकें। योगी सरकार की मंशा के अनुसार, बेटियां जो आने वाली पीढ़ी के साथ ही दो परिवारों को जोड़कर रखने का कार्य करती हैं। उनकी शिक्षा में किसी भी तरह का कोई व्यवधान न आएं, इसके लिए योगी सरकार ने प्रदेश की बेटियों के लिए देवी अहिल्याबाई नि:शुल्क शिक्षा योजना की शुरुआत की है। इस योजना के अंतर्गत सरकार गरीब परिवारों की बच्चियों की पढ़ाई के लिए आर्थिक मदद प्रदान करती है और उन्हें निकट भविष्य में आगे बढ़ने के लिए प्रेरित भी करती है। देवी अहिल्याबाई नि:शुल्क योजना के अंतर्गत ऐसे परिवार की बेटियों को शिक्षित करने की जिम्मेदारी सरकार उठाती है, जो गरीबी रेखा के नीचे जीवनयापन कर रहे हैं और जिन परिवारों की आर्थिक स्थिति बेहद कमजोर है। इस योजना के अंतर्गत सरकार बालिकाओं की शिक्षा के साथ उनकी शिक्षा से जुड़े आवश्यक खर्च जैसे, किताबें, कॉपियां, बैग, स्टेशनरी यूनिफॉर्म आदि भी प्रदान करती है। योगी सरकार ने देवी अहिल्याबाई नि:शुल्क शिक्षा योजना की शुरुआत इसी उद्देश्य से की है, ताकि प्रदेश की बेटियों को बोझ न समझा जा सके और प्रदेश में बेटियों की साक्षरता दर में भी वृद्धि हो। माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी की इस योजना के माध्यम से समाज की सोच को बदलने का भी कार्य किया जा रहा है, जिससे समाज में बेटियों के प्रति संकुचित मानसिकता को समाप्त कर बेटियों को आगे बढ़ाने के लिए आवश्यक पहल की जा सके। योगी सरकार की इस योजना के माध्यम से जहां एक ओर बेटियां शिक्षित होकर आगे बढ़ेंगी, तो वहीं दूसरी ओर भ्रूण हत्या के मामलों में भी कमी आएगी। अक्सर ऐसा देखा गया है कि बेटियों की परवरिश, पढ़ाई-लिखाई और शादी आदि की चिंता के कारण लोग बेटियों को पैदा होने से पहले ही मार देते हैं। जिसके चलते योगी सरकार की अहिल्याबाई नि:शुल्क शिक्षा योजना बेटियों के जीवन में किसी वरदान से कम नहीं है। इस योजना के जरिए सरकार बालिकाओं की स्नातक शिक्षा तक के सारे खर्च वहन करती है। इसके साथ ही प्रतिभाशाली बच्चियों को इस योजना के अंतर्गत सरकार छात्रवृत्ति भी प्रदान करती है। देवी अहिल्याबाई नि:शुल्क शिक्षा योजना के अंतर्गत बोर्ड परीक्षाओं में अच्छे अंकों से पास होने वाली बालिकाओं को 2 हजार रुपए की छात्रवृत्ति दी जाती है, हालांकि यदि किसी लड़की को प्रदेश सरकार की अन्य किसी योजना के अंतर्गत पहले से लाभ प्राप्त हो रहा है, तो वह बालिकाएं इस योजना के अंतर्गत लाभ पाने के लिए पात्र नहीं होंगी। इस योजना के अंतर्गत लाभ प्राप्त करने वाली यदि कोई लाभार्थी बीच में ही शिक्षा छोड़ देती है, तो उसे इस योजना का पूर्ण लाभ प्राप्त नहीं होगा। देवी अहिल्याबाई नि:शुल्क योजना का लाभ प्रदेश की निवासी किसी भी धर्म व जाति की बच्चियों को मिल सकता है। इस योजना के अंतर्गत लाभ पाने के लिए बच्चियों का बैंक खाता आधार से लिंक होना चाहिए। इसके अलावा योजना के अंतर्गत आवेदन करने के लिए बालिका का आधार कार्ड, बैंक पासबुक, शिक्षक प्रमाण पत्र, निवास प्रमाण पत्र, प्रमाण पत्र, पासपोर्ट साइज फोटो आदि की आवश्यकता पड़ती है। योगी सरकार की देवी अहिल्याबाई नि:शुल्क योजना के अंतर्गत केवल उत्तर प्रदेश की निवासी बालिकाओं को ही योजना का फायदा प्राप्त होगा। इसके अलावा गरीब परिवार की ऐसी बालिकाएं जो 12वीं कक्षा उत्तीर्ण करने के बाद स्नातक की पढ़ाई आगे जारी रखना चाहती हैं, उन्हें भी देवी अहिल्याबाई नि:शुल्क शिक्षा योजना के अंतर्गत सहायता प्रदान की जाती है। देवी अहिल्याबाई नि:शुल्क शिक्षा योजना के अंतर्गत आवेदन करने के लिए आप नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करके समस्त आवश्यक जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। इस योजना के अंतर्गत आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर बालिका का पंजीयन कराएं और आवश्यक जानकारियां भरकर जरूरी दस्तावेज अपलोड कर दें। आवश्यक दस्तावेजों और समस्त जरूरी जानकारियों का सत्यापन होने के बाद आपको देवी अहिल्याबाई नि:शुल्क शिक्षा योजना के अंतर्गत लाभ प्राप्त होने लगेगा। देवी अहिल्याबाई नि:शुल्क शिक्षा योजना के अंतर्गत आवेदन करने के लिए आप अपने स्कूल या कॉलेज के प्रबंधक से भी संपर्क करके इस योजना के अंतर्गत रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं।

टिप्पणी करें

© Copyright 2024 Lokpahal.org | Developed and Maintained By Fooracles

( उ.  प्र.)  चुनावी  सर्वेक्षण  2022
close slider