प्रधानमंत्री सूर्योदय योजना
22 जनवरी 2024 को भगवान श्री राम की प्राण-प्रतिष्ठा के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने प्रधानमंत्री सूर्योदय योजना की शुरुआत की। इस योजना के माध्यम से मोदी सरकार देश भर के लोगों के घरों की छत पर सोलर पैनल लगाएगी, ताकि गरीब व मध्यमवर्गीय परिवार के लोगों को बढ़ते बिजली के बिल से राहत मिल सके और ऊर्जा की जरूरतों को आसानी से पूरा किया जा सके। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की जनकल्याणकारी योजनाओं में से एक प्रधानमंत्री सूर्योदय योजना के तहत देश के एक करोड़ लोगों को फायदा पहुंचाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इस योजना को सफल बनाने के लिए मोदी सरकार जल्द ही राष्ट्रीय स्तर पर एक अभियान शुरू करने वाली है, जिसके तहत देश में बढ़ती ऊर्जा की मांग को आसानी से पूरा किया जा सकेगा। प्रधानमंत्री सूर्योदय योजना का फायदा देश के गरीब व जरूरतमंद और आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को पहुंचाया जाएगा। ऐसी योजना के जरिए मध्यमवर्गीय परिवार के लोगों को अब बिजली के खर्च की चिंता नहीं सताएगी और पैसों की भी काफी बचत होगी। प्रधानमंत्री सूर्योदय योजना के माध्यम से पात्र परिवारों के घरों की छत पर सोलर पैनल लगाए जाएंगे, जहां आसानी से बिजली का उत्पादन किया जा सकेगा। प्रधानमंत्री सूर्योदय योजना के माध्यम से बिजली के कार्यों से जुड़े लघु व्यापारियों को भी लाभ होगा और घर पर स्वरोजगार स्थापित करने वाले उद्यमियों को भी फायदा पहुंचेगा। प्रधानमंत्री सूर्योदय योजना के अंतर्गत केवल उन्हीं परिवारों को योजना का लाभ मिलेगा, जिनकी वार्षिक आय डेढ़ लाख रुपए से ज्यादा न हो। इसके साथ ही सरकारी नौकरी में कार्यरत लोगों को भी इस योजना के अंतर्गत फायदा नहीं मिलेगा। प्रधानमंत्री सूर्योदय योजना को पहले रेजिडेंशियल रूफटॉप सोलर का नाम दिया गया था, जिसका नाम प्रधानमंत्री मोदी जी ने बदलकर प्रधानमंत्री सूर्योदय योजना कर दिया है। इस योजना के अंतर्गत मोदी सरकार ने 20 हजार करोड़ का बजट आवंटित किया है। इसके साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार के अंतरिम बजट 2024 के दौरान भी पीएम सूर्योदय योजना के अंतर्गत प्रत्येक परिवार को 300 यूनिट तक फ्री बिजली देने का एलान किया गया है। प्रधानमंत्री सूर्योदय योजना के माध्यम से जहां एक ओर देश ऊर्जा के मामले में आत्मनिर्भर बनेगा, साथ ही सरकार के निर्धारित 40 गीगावाट रूफटॉप सोलर क्षमता के लक्ष्य को भी आसानी से पूर्ण किया जा सकेगा। इसके अलावा स्वच्छ ऊर्जा को बढ़ावा मिलेगा और कार्बन उत्सर्जन घटेगा। प्रधानमंत्री सूर्योदय योजना का फायदा प्राप्त करने के लिए आपके पास आधार कार्ड, निवास प्रमाण पत्र, बिजली का बिल, आय प्रमाण पत्र, मोबाइल नंबर, बैंक पासबुक, पासपोर्ट साइज फोटो और राशन कार्ड होना जरूरी है। इस योजना के अंतर्गत केवल देश के स्थायी नागरिकों को ही फायदा प्राप्त होगा। प्रधानमंत्री सूर्योदय योजना के अंतर्गत अब सोलर पैनल लगाने के लिए बिजली उपभोक्ताओं को अलग से जमीन खरीदने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी, बल्कि उपभोक्ता अपनी छतों पर ही सोलर पैनल लगा सकते हैं। प्रधानमंत्री सूर्योदय योजना के अंतर्गत आवेदन के लिए आप नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर सकते हैं। प्रधानमंत्री सूर्योदय योजना के अंतर्गत आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर आपको अपने राज्य और जिले की सारी जानकारी भरनी होगी। इसके बाद आवेदक अपना नाम, पता, बिजली बिल का नंबर और विद्युत खर्चे की सारी जानकारी डालकर प्रधानमंत्री सूर्योदय योजना के अंतर्गत अप्लाई कर सकते हैं। इस योजना का लाभ लेने के लिए आपको आवेदन करते समय अपनी छत की लंबाई-चौड़ाई के बारे में भी पूरी जानकारी सही-सही देनी होगी, ताकि सोलर पैनल लगवाते समय आपको किसी तरह की कठिनाई न हो। इसके बाद आपकी पात्रता सत्यापित होने के बाद आपको इस योजना के अंतर्गत सोलर पैनल लगाने की सुविधा प्राप्त होगी। जिसमें आपको सोलर पैनल लगाने के लिए बैंक खाते में सरकार द्वारा उचित सब्सिडी दी जाएगी, जिसके माध्यम से आप अपने घर की छत पर सोलर पैनल लगवाकर बिजली का बिल आधा कर सकते हैं। साथ ही आप बढ़ते बिजली के बिल से हमेशा के लिए छुटकारा पा सकते हैं और आसानी से अपनी विद्युत संबंधी जरूरतों की पूर्ति कर सकते हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की महत्वाकांक्षी योजनाओं में से एक प्रधानमंत्री सूर्योदय योजना के जरिए देश के नागरिकों की ऊर्जा संबंधी जरूरत को पूर्ण करके उनके पैसों की बचत करना ही सरकार का उद्देश्य है, ताकि मध्यमवर्गीय परिवारों को महंगाई के इस दौर में बढ़ते बिजली के खर्चे से राहत मिल सके।

टिप्पणी करें

© Copyright 2024 Lokpahal.org | Developed and Maintained By Fooracles

( उ.  प्र.)  चुनावी  सर्वेक्षण  2022
close slider